उपसर्ग किसे कहते हैं । उपसर्ग के भेद, परिभाषा, उदाहरण

व्याकरण में उपसर्ग बहुत महत्वपूर्ण होता है, उपसर्ग जब किसी शब्द के आगे लग जाता है तो उस शब्द का अर्थ परिवर्तन कर देता है. यहाँ हम उपसर्ग से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी आपको बताने वाले हैं. उपसर्ग की परिभाषा क्या है ? उपसर्ग के कितने भेद होते है और यह कितने प्रकार के होते है इन सब की जानकारी आपको हम इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं. अगर आप व्याकरण की सम्पूर्ण जानकारी चाहते है तो उपसर्ग को समझना बहुत आवश्यक है. 

उपसर्ग क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं इन सब की जानकारी हम नीचे टेबल के माध्यम से आपको समझाने का प्रयास कर रहे हैं. उम्मीद है आपको हमारा यह तरीका पसंद आएगा और आप आसानी से हिंदी उपसर्ग, संस्कृत उपसर्ग, अंग्रेजी उपसर्ग, उर्दू उपसर्ग और फ़ारसी उपसर्ग को समझ पायेंगे. 

उपसर्ग की परिभाषा 

उपसर्ग की परिभाषा से पहले हमें उपसर्ग का अर्थ पता होना चाहिए. जैसा की आप पढ़ सकते है उपसर्ग दो शब्दों को मिलाकर बना है उप+सर्ग उप का अर्थ ‘समीप’ और सर्ग का अर्थ ‘सृष्टि करना’ है. यानि इसका पूरा अर्थ किसी शब्द के समीप (आगे) लगकर उस शब्द का अर्थ परिवर्तन (नया शब्द बनाना)  करना है. 

उपसर्ग की परिभाषा इस तरह है “ऐसे शब्दांश जो शब्द के आगे लगकर उस शब्द का अर्थ परिवर्तन कर देते है ऐसे शब्दांश को उपसर्ग कहते है.” जैसे – उप, वि, आ, सम्, अति, अधि, सु, अन, कु, अध, दु इत्यादि अनेक उपसर्ग है जिनका विवरण हम निचे देने वाले है. 

उदाहरण – अन+पढ़ = अनपढ यहाँ पर पढ़ शब्द का अर्थ पढने से है लेकिन जब इसके आगे अन लग गया तो इसका अर्थ बदल गया और यह अनपढ़ यानि ‘पढ़ा लिखा ना हो’ हो गया है.  

उपसर्ग के प्रकार 

उपसर्ग मुख्य रूप से 4 प्रकार के होते है यह इस तरह है – 

  1. हिंदी उपसर्ग 
  2. संस्कृत उपसर्ग 
  3. उर्दू उपसर्ग 
  4. अंग्रेजी उपसर्ग 

(नोट: भाषा के आधार पर उपसर्ग के प्रकार अलग-अलग हो सकते है, लेकिन आमतौर पर जिन उपसर्ग का सबसे ज्यादा उपयोग होता है वह पांच ही प्रकार के है.) 

हिंदी उपसर्ग 

हिंदी में 22 उपसर्ग होते है जिनका विवरण यानि अर्थ और उदाहरण हम इस टेबल के माध्यम से दे रहे है. 

हिंदी के उपसर्ग
उपसर्ग अर्थ उदाहरण
अ निषेध, अभाव अन+पढ़ =अनपढ़ ( पढाई के अभाव में रहा हुआ) 
आध्आधाअध्+पका =अधपका ( आधा पका हुआ) 
अन्अभाव, निषेध अन्+यंत्रित =अनियंत्रित (नियन्त्रण का अभाव) 
उनएक कम उन+साठ =उनसठ (साठ से एक कम) 
औ हीनता, नहीं औं+रत =औरत (महिला)  
कु बुरा कु+मति = कुमति ( बुरी नीति वाला) 
स अच्छा, सहित स+परिवार=सपरिवार ( परिवार के साथ या सहित)  
सु अच्छा, सहित सु+विचार = सुविचार ( अच्छे विचार) 
दु बुरा, हीन दु+विधा = दुविधा ( कार्य ना होने की स्थिति, परेशानी) 
बिन वंचित रहना बिन+खाया – बिनखाया (खाए बिना रहना) 
भर भरा हुआ भर+पुर = भरपुर ( भरा हुआ )  
पर दूर पर+लोक = परलोक ( स्वर्ग, आसमान, भगवान का घर इत्यादि) 

(नोट: वैसे तो विकिपीडिया के अनुसार हिंदी में 22 उपसर्ग बताये गये है लेकिन इनमे कुछ उपसर्ग संस्कृत के मिले हुए है इसलिए हमने यहाँ पर हिंदी के ही उपसर्ग के बारें में बताया है जिनकी संख्या 12 ही है.) 

संस्कृत उपसर्ग 

संस्कृत व्याकरण के अनुसार संस्कृत में 22 उपसर्ग है यह इस तरह है – 

संस्कृत उपसर्ग
उपसर्ग अर्थ उदाहरण 
अतिअधिकअति+शय = अतिशय 
अधिअधिक, ऊपर, श्रेष्ठअधि+कार = अधिकार  
अनुपीछे, क्रम, समानताअनु+उपस्थिति = अनुपस्थिति 
अप्बुड़ा, अभाव, विपरीतअप+रिये = अप्रिय 
अपिनिकटअपि+श = अपिश 
अभिसामने, अधिक, अच्छाअभी+ज्ञान = अभिज्ञान 
अवपतन, हिनताअव-तरित = अवतरित 
तक, सब तरफ से, ओरआ+जीवन = आजीवन 
उत् , उद्ऊपर, अधिकउत्+कर्ष = उत्कर्ष 
उपसमीप, सहायक, छोटाउप+कार = उपकार 
दु:बना, बाहर, निषेधदु+धारु = दुधारू  
पुराविपरीत, अनादरपूरा+तत्व=पुरातत्व 
परिचारों ओर, आसपासपरि+कर्मा = परिक्रमा 
प्रतिविपरीत, समान, प्रत्येकप्रति+उत्तर =प्रतिउत्तर 
विविशेष, रोहितवि+ज्ञान =विज्ञान
सम् ,सन्संयोग, पूर्णतासन्+योग = संयोग 
सु अच्छा, सरलसु+योग = सुयोग 

अंग्रेजी उपसर्ग 

अंग्रेजी के उपसर्ग इस तरह है, आप इस टेबल के माध्यम से समझ सकते हैं- 

अंग्रेजी उपसर्ग
उपसर्ग अर्थ उदाहरण 
सबअधीन, नीचेसब+इंस्पेक्टर = सबइंस्पेक्टर 
डिप्टीसहायकडिप्टी+कमिश्नर = डिप्टीकमिशनर 
वॉइससहायकवॉइस+प्रेजिडेंट = वॉइसप्रेजिडेंट 
जनरलप्रधानजनरल+कलेक्टर = जनरलकलेक्टर 
चीफप्रमुखचीफ+मिनिस्टर = चीफमिनिस्टर 
हेडमुख्यहेड+कांस्टेबल = हेडकांस्टेबल 
डबलदोगुनाडबल+स्टेंडर्ड = डबलस्टेंडर्ड 
फुलपूराफुल+प्रूफ = फुलप्रूफ 
हाफआधाहाफ+माइंड = हाफमाइंड 

उर्दू उपसर्ग 

उर्दू/फारसी भाषा के उपसर्ग हमने इस टेबल में लिखे है, अक्सर हिंदी में भी इन उर्दू उपसर्गों का उपयोग हम करते है. यह उर्दू उपसर्ग इस तरह है – 

उर्दू उपसर्ग
उपसर्ग अर्थ उदाहरण 
अलनिशिचतअल+बत्ता = अलबत्ता
कमथोड़ाकम+समझ = कमसमझ
खुशअच्छे के अर्थ मेंखुश+हाल = खुशहाल
गैरनिषेधगैर+सरकारी = गैरसरकारी
दरमेंदर+असल = दरअसल
फीमें,परफी+आदमी = फीआदमी
बेबिनाबे+ईमान = बेईमान 
लाबिनाला+चार = लाचार
एनठीकएन+वक्त = एनवक्त
बिलाबगैर,बिनाबिला+लिहाज = बिलालिहाज
बिनारहितबिना+काम = बिनाकाम
नाअभावना+पसंद = नापसंद

निष्कर्ष 

हमने यहाँ पर उपसर्ग क्या है उपसर्ग के कितने प्रकार है सभी के बारें में बताया है, आमतौर पर हम हिंदी भाषा में अनेक भाषाओँ के उपसर्ग को भी उपयोग करते है. इनमे हिंदी, संस्कृत, फारसी/उर्दू और अंग्रेजी भाषा के उपसर्ग भी शामिल है. इसलिए हमने यहाँ पर अन्य भाषाओं के उपसर्ग की भी जानकारी दी है. आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताएं. अगर उपसर्ग से जुड़े किसी तरह के सवाल है तो आप यहाँ लिख सकते है हम आपके सवाल का जवाब जरुर देंगे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *