पदार्थ किसे कहते है – परिभाषा, प्रकार, उदाहरण

आज हम इस लेख में जानेंगे की पदार्थ किसे कहते है एवं इसके प्रकार कितने है। पदार्थ का सामान्य भाषा में बात करे तो इसका अर्थ ‘‘ हमारे आसपास की उन चीजों से है जिसका हम उपयोग हमारे दैनिक जीवन में करते है, वे सभी पदार्थों से बने होते है। ’’    

हमारे पढने व लिखने के अनुसार तो पदार्थ एक ही होते है लेकिन विज्ञान के अनुसार पदार्थ को कई अनेक भागों में बांटा गया है। इसलिए हमें पदार्थ क्या है इसे समझना चाहिए। आज का हमारा यह लेख आपको इस के बारे में अच्छे से समझायेगा की पदार्थ क्या है एवं इसके कितने प्रकार होते है। 

पदार्थ क्या है एवं इसके प्रकार के बारे में इस लेख में आपको पूरी जानकारी देने का प्रयास करेंगे। हम उम्मीद करते है की आपको हमारा ये लेख पसंद आएगा। जब हम बचपन में स्कूल में पढते थे तब से ही विज्ञान के बारे में पढते आ रहे है। 

इसके बावजूद भी ऐसे कई बिंदु है जो हमें पदार्थ व विज्ञान के संदर्भ में समझ नही आते है। हमारे इसी लेख में उन्ही बिन्दुओं को समझाने का प्रयास कर रहे है। चलिये जानते है की पदार्थ क्या है और इसके कितने प्रकार है –

पदार्थ किसे कहते है 

हमारे आसपास जो भी वस्तुएं व चीजे है वे सभी किसी न किसी पदार्थ से ही बनी होती है। हमारे आसपास हम कोई भी ऐसी चीज जिसे हम छू सकते है, पदार्थ का ही रूप होता है। सामान्य भाषा में कहे तो हमारे आसपास हमें पदार्थ दिखाई देते है। उदाहरण पैन, किताब इत्यादि। 

पदार्थ के भेद 

हमारी सामान्य विज्ञान में पदार्थों को मुख्य रूप से दो भागों में बांटा गया है जिसमे पहला है भौतिक पदार्थ वह दूसरा है रासायनिक पदार्थ। विज्ञान में यह दो मुख्य पदार्थ के रूप में जाने जाते है परन्तु इसके भी कई अलग – अलग भाग है जिसके बारे में आगे बताया गया है। 

भौतिक पदार्थ

विज्ञान में भौतिक पदार्थों को पुनः 3 भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार है – 

  • ठोस पदार्थ – भौतिक पदार्थो में वे पदार्थ जिनका आयात व आकार एक ही समान ठोस एवं स्थिर हो, ऐसे पदार्थो को ठोस पदार्थ कहते है। इस प्रदार के पदार्थो के कुछ उहादरण ‘‘ लोहे की छड़,लकड़ी की कुर्सी ,बर्फ का टुकड़ा ’’ इत्यादि है। 
  • द्रव – ऐसे पदार्थ जिनका आकार अनिश्चित व उन पदार्थों का आयतन निश्चित हो, ऐसे पदार्थों को द्रव कहा जाता है जैसे पानी, अल्कोहल ,मिट्टी का तेल आदि इसमें शामिल है। 
  • गैस – ऐसे पदार्थ जिनके आयतन व आकार दोनो की अनिश्चित होते है, उन पदार्थों को गैसों की श्रेणी में रखा जाता है जैसे हवा ,ऑक्सीजन पदार्थ की चौथी अवस्था प्लाज्मा एवं पांचवी अवस्था इत्यादि। 

रसायनिक पदार्थ 

विज्ञान में रासायनिक पदार्थों को भी पुनः 2 भागों में बांटा गया है जो की इस प्रकार है। इन दो पदार्थों को भी 4 अन्य भागों में बांटा गया है – 

  • तत्व – ऐसे शुद्ध रासायनिक पदार्थ जिसमें किसी ज्ञात भौतिक एव रासायनिक विधि से न तो उसमें दो या दो से अधिक पदार्थों में विभाजित किया जा सकता है और न कीं उन्हें पदार्थों के योग से बनाया जा सकता है जैसे सोना चांदी ऑक्सीजन इस तत्वों के अच्छे उदाहरण है – 
  • यौगिक – भौतिक विज्ञान में उस पदार्थ को इस श्रेणी में रखा जाता है जिसमें दो या दो से अधिक तत्वों का मिश्रण होता है। इस प्रकार के रसायन का जल एक अच्छा उदाहरण है। 
  • मिश्रण रसायन – इस श्रेणी में उस रसायन को रखा जाता है जिसमें दो पदार्थो का समान अनुपात में मिश्रण हो। 
  • समांगी मिश्रण पदार्थ – ऐसे पदार्थ जिससे निश्चित अनुपात में अब लोगों को मिलाने से एक नये समान मिश्रण का निर्माण होता है इस प्रकार के रसायन के प्रत्येक भाग के गुण धर्म एक समान होते हैं जैसे चीनी या नमक के विलयन इसका अच्छा उदाहरण है। 

हमारे आसपास ऐसी कई चीजेे है जो कई कई पदार्थों से घिरी रहती है। 

पदार्थ के गुण

पदार्थों के कुछ गुण निम्न है – 

  • पदार्थ ठोस व एक निश्चित द्रव्यमान में होते है। 
  • यह कठोर व असंपीड्य होते है। 
  • पदार्थ के कण बहुत छोटे होते है। 
  • पदार्थों के उन दो कणों के बीच में खाली स्थान होता है जिसे रिक्त कहते है। 
  • पदार्थ के कण लगातार गतिशील होते है। 

निष्कर्ष

यहाँ हमने पदार्थ क्या है एवं उसके सभी प्रकारों की जानकारी दी है, अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें। अगर शब्द से जुड़ा किसी भी तरह का प्रश्न है तो आप यहाँ कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमें उम्मीद है की आप हमारा यह मेहनत भरा लेख अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *